OLED is the best no.1 display technology | Difference between LCD and LED

OLED is the best display technology | Difference between LCD and LED

Screen technology की बात करें तो फिलहाल OLED, LED व LCD स्क्रीन्स चलन में है। जिस तरह के स्पेसिफिकेशन्स, technology आज टीवी में दी जा रही है, उसके चलते एक नया टीवी खरीदना खासा मुश्किल फैसला हो गया है।

OLED, LED व LCD

टीवी technology की दुनिया में थोड़ा सा फर्क भी एक बड़ा अंतर है। इसका असर परफॉर्मेंस पर भी पड़ता है। उदाहरण के लिए OLED, LED और LCD को लें ये तीनों ही technology एक-दूसरे से बिल्कुल अलग हैं।

OLED

OLED का full form ‘Organic Light-Emitting Diode‘ और यह एक display technology है। इस technology में दो कंडक्टर्स के बीच कार्बन बेस्ड एक फिल्म लगाई जाती है। यह कंडक्टर करंट जारी करता है और इससे फिल्म से लाइट निकलती है।

इस technology में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है कि लाइट पिक्सल-बाय-पिक्सल बेसिस पर निकलती है, ताकि व्हाइट या कलर्ड पिक्सल उस ब्लैक या पूरी तरह से अलग कलर के पास निकल सके और कोई उससे प्रभावित भी ना हो। इससे कंट्रास्ट एक अलग तरह के बेहतरीन लेवल पर पहुंच जाते है जो दूसरी मौजूद TV technology के लेवल से कहीं ज्यादा है। दूसरी कोई भी technology इस लेवल को मैच नहीं कर सकती।

क्योंकि OLED टीवी थिकनेस इनक्रीजिंग बैकलाइट पर निर्भर नहीं होते। इस तरह के टीवी दूसरे टेलिविजन की तुलना में ज्यादा पतले और हल्के होते हैं। व्यूइंग ऐंगल्स भी परफेक्ट होते हैं और रिस्पॉन्स टाइम काफी तेज रहता है। OLED टीवी में कभी भी इमेज रिटेंशन की समस्या नहीं देखी गई है।

बात करें OLED TV की कीमत की तो पिछले कुछ सालों में इनकी कीमतें कम हुई हैं और अभी भी गिरावट जारी है। लेकिन अभी भी ये LED व LCD TV से ज्यादा महंगा हैं।

LCD और LED के बीच अन्तर

LCD का फुल फार्म “liquid crystal display” है, जबकि LED का फुल फार्म “light emitting diodes”है। हालांकि तकनीकी रूप से ये दोनों ही same display technology का उपयोग करते है, अर्थात ये दोनों ही liquid crystal display हैं। इनके बीच सामान्य अंतर backlight का है जहाँ LCD में fluorescent light का उपयोग होता है,वही LED में light emitting diodes का। दोनों का डिजाइन भी एक-दूसरे के समान ही होता है। इनमें polarized glass की दो layers होती है जिसके माध्यम से liquid crystal, light को block और pass करता है। अतः LED को LCD का बेस्ट वर्जन यानी विकसित रूप कह सकते है|
कुछ मुख्य अन्तरों पर एक नजर –

स्क्रीन थिकनेस
LCD के compare में LED पतली thinner screen होती है, इसका कारण backlight की placement और उपयोग होने वाली light में अंतर का होना है।

पिक्चर क्वालिटी
LED displays एक LCD की तुलना में clear और better picture quality प्रदान करते है। LEDs अधिक realistic और sharper color को produce करने के लिए color wheel और अलग-अलग RGB-colored lights (red, green, blue) के साथ कार्य करते है। इसमे मौजूद back-lighting की dimming capability प्रकाश को dark करके और panel से pass होने वाली अधिक light को block करके picture को true black में display करने की अनुमति देती है।

कंट्रास्ट और कलर
LEDs display का contrast ratio एक LCD के comparison में उच्च होता है। Contrast ratio का मतलब display की brightness और darkness के बीच अंतर, अर्थात ये good और bad-looking images के बीच अंतर करता है। इसके अलावा एक LCD display के मुकाबले LEDs में अधिक colors होते है, खासकर उनमें जो RGB-LED backlighting उपयोग करते है।

पावर कंजम्प्शन
LCD की तुलना में LED अधिक energy efficient होते है क्योंकि इनमें backlighting के लिए light emitting diodes उपयोग होते हैं। वही LCD में CCFL लगे होने के कारण ये अधिक power consume करते है। यदि आप LEDs tv का उपयोग करेंगे तो लगभग आपकी 30% तक बिजली की बचत होती है।

कीमत
LED में अधिक विशेषताएं होने के कारण इसके price भी एक LCD के तुलना में अधिक होते हैं। LED TV की Price, LCD TV के मुकाबले लगभग 1.5 गुना अधिक होती है।

बैक-लाइटिंग
Backlighting इन दोनों display के बीच एक सबसे बड़ा difference है इसी वजह से समान तकनीक उपयोग करने के बावजूद भी इनके नाम अलग-अलग है। एक LED display में दो तरह की backlight होती है, edge lighting और full array lighting जबकि LCDs display में सिर्फ fluorescent lamp (CCFL) का उपयोग होता है।

साइज
एक LED TV को खरीदने से पहले आपको उसके लिए space की व्यवस्था कर लेनी चाहिए। LEDs के screen size की बात करे तो ये up to 90 inches तक हो सकता है, वही LCDs 13 से 57 inches तक की होती है।

लाइफ स्पेन
डिस्प्ले के जीवनकाल की बात करे तो यहाँ भी LED ही victor है। एक LCD का जीवनकाल 80000-120000 hours तक हो सकता है, जबकि LED का जीवनकाल 120000-200000 hours तक होता है| हालांकि ये depend करता है display के materials और manufacturers पर।

रेजोल्यूशन
Resolution का अर्थ है एक display पर pixels की संख्या। LED का resolution एक LCD की तुलना में ज्यादा बेहतर होता है।

स्विटचिंग टाइम
LCD की तुलना में LED का switching time कम है, ये display के activate और deactivate होने का समय है।

LCD और LED TVs में बेहतरीन कौन

LCD के comparison में LED better display है फिर भी आपको अपनी आवश्यकतानुसार निर्णय लेना चाहिये। लेकिन अगर आप high definition picture देखना चाहते है तो आपको LED को choose करना चाहिए। बदलती तकनीक के हिसाब से ये आपकी जरूरतों को पूरा करती है और आपके budget में भी आती है।

LCD व LED दोनों में डिस्प्ले तकनीक के कई प्रकार और उनके अपने अलग-अलग फायदे है।

Types of LCD and LED TVs

अगर common LED TVs के प्रकार की बात करे तो Edge LED TV सबसे ऊपर है। जो स्क्रीन के पीछे समान रूप से प्रकाश फैलाता है, इसके विपरित LCD TV के सामान्य प्रकार में flat screen सबसे उप्पर आती है। इनके और प्रकार निम्न हैं –

Types of LCD TVs:
Flat Screen LCDs
Front Projection LCDs
Rear Projection LCDs.

Types of LED TVs:
Edge LEDs
Dynamic RGB LEDs
Full-array LEDs

LED display की विशेषताएं
ये अन्य televisions के मुकाबले deeper black और साथ-साथ brighter images को डिस्प्ले में प्रदर्शित करता है।
LCD की तुलना में better viewing angles देता है।
वजन में lighter और आकार में दूसरे टीवी से slimmer होते है।
ये long lasting product है जो अधिक टिकाऊ है।
दूसरे डिसप्ले तकनीक के तुलना में OLED को छोड़कर more energy efficient होते है।

Conclusion

उपरोक्त तुलनात्मक बिन्दुओं को देखा जाय तो LED बेहतर है, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि OLED ज्यादा बेहतर है। जिस दिन OLED भी किफायती दाम में उपलब्ध होंगे, उस दिन शायद कुछ और (माइक्रोएलईडी) OLED को रिप्लेस कर देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *